अमेरिका में कोरोना के 12 लाख मामले


न्यूयॉर्क। दुनियाभर में कोरोना का कहर जारी है। लेकिन अमेरिका की कोरोना ने कमर तोड़ दी है। यहां का हैल्थ सिस्टम फेल हो गया है और ट्रंप सरकार कोराना नियंत्रण में पूरी तरह विफल हो गई है। विशेषज्ञों और अमेरिकी नागरिको ने ट्रंप सरकार के इस फेलियर के खिलाफ आवाजें भी उठाई हैं, लेकिन कुल मिलाकर देखें, तो स्थितियां नियंत्रण से बाहर हैं और मरने वालों की संख्या यहां लगातार बढ़ती जा रही है।

ताजा आंकड़ों को देखें, तो अमेरिका में अब तक लगभग 12 लाख मामले कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं, जिनमें से करीब पौने दो लाख रिकवर होने की पुष्टि हो पाई है। कुल मौतों की बात करें, तो यहां आज दिन तक 68,609 मौतें हो चुकी हैं और कोरोना से मौत का खौफ एक आम अमेरिकी नागरिक की आंखों में इस समय देखा जा सकता है। अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा हालात स्पेन में खराब हुए हैं। स्पेन में खबर लिखे जाने तक कुल 247,122 मामले सामने आ चुके हैँ और करीब 25 हजार मौतें हो चुकी हैं। तीसरे स्थान पर इटली है, जिसमें कोरोना का कोहराम किसी से छिपा हुआ नहीं है। इटली जो कि दुनिया में हैल्थ सिस्टम सबसे मजबूत माना जा रहा है भी कोरोना महामारी को नियंत्रित करने में नाकाम रहा है। इटली में आज खबर लिखे जाने तक कुल 210,717 पॉजिटिव मामले आ चुके हैं और यहां स्पेन से ज्यादा यानी 28,884 मौतें कोरोना महामारी से हो चुकी हैं।

गौरतलब है कि वल्र्ड हैल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने लगातार चेतावनी दी है और दुनियाभर की सरकारों को चेताया है कि समय रहते भविष्य की योजनाओं पर काम नहीं किया गया, तो अफ्रीकी देशों में कोरोना भारी तबाही मचा देगा। ऐसे में भूख के हालात भी पैदा हो सकते हैं। बताया जा रहा है अफ्रीका में सामान्य नागरिकों द्वारा हैल्थ सिस्टम में भरोसा नहीं जता पाने के चलते हालात और गंभीर होंगे। जिनपर नियंत्रण बेहद मुश्किल हो जाएगा।
Share on Google Plus

Health TV

0 comments:

Post a Comment