हमारी आंखें भेजती हैं दिमाग को अविश्वसनीय सिग्नल


एक ताजा शोध में वैज्ञाानिकों ने पाया है कि हमारी आंखों का दिमाग से गहरा रिश्ता होता है। आंखें दिमाग को अविश्वसनीय तरीके और गति से सिग्नल्स भेजती हैं, जिन पर दिमाग अपना तत्काल रिएक्शन भी देता है।

नेत्र विशेषज्ञों ने करीब चार दशक से इस बात के प्रमाण लगातार दिए हैं कि हमारी आंखों से दिमाग तक सिग्नल्स जाने का एक तय रास्ता होता है। लेकिन अब वैज्ञानिकों ने ताजा शोध में पाया है कि हमारी आंखों के रेटिना की कोशिकाओं के जरिए एक अद्भुत संचार स्थापित होता है, जो बिना किसी पाथ अथवा तय रास्ते के दिमाग को सिग्नल पहुंचाता है। नॉर्थवैस्टर्न युनिवर्सिटी की ओर से किए गए इस सर्वे में वैज्ञानिकों ने पाया है कि अब तक जहां एक्सीटेटोरी सिग्नल्स दिमाग तक आंखों के रास्ते से पहुंचते थे, बिलकुल वैसे ही रेटिनल न्यूरोंस के जरिए इनहिबिटोरी सिग्नल्स दिमाग तक पहुंचते हैं।

वैज्ञानिकों ने इस शोध में यह भी पाया है कि यह सिग्नल्स व्यक्ति के व्यवहार में भी बदलाव दिखाते हैं। व्यक्ति की रौशनी संबंधी मामलों में ज्यादा ब्राइटनेस मुहैया करवाने में कारगर हैं। यह हमारी कम रौशनी में भी देखने की सामन्य या औसतन बढिय़ा क्षमता को बनाने में सक्षम हैं। वैज्ञानिकों के मुताबिक इस अध्ययन में पाया गया है कि हमारी आंखें, दिमाग तक एक अदृश्य, अविश्वसनीय गति और तरीके से संकेतों को ट्रांसफर करती हैं। यह सोचना भी कि इन संकेतों की गति, तरीका और प्रक्रिया अपने आप में अद्भुत है।
Share on Google Plus

Health TV

0 comments:

Post a Comment